News

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय मेड़ता के तत्वावधान में संस्कृत पारीक कॉलेज में आयोजित हेल्थ वेल्थ हैप्पीनेस मेले का शुभारभ

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय मेड़ता के तत्वावधान में संस्कृत पारीक कॉलेज में आयोजित हेल्थ वेल्थ हैप्पीनेस मेले का शुभारभ ,काशीराम चौहान,कृषि मण्डी के सचिव राजेन्द्र कुमार,महिला मंडल की अध्यक्ष उमा शर्मा,नगर पालिका के ईओ  जितेन्द्र कुमार,बी के अनुराधा बहन , बी के बिन्दु सिरसा से बी के प्रिती  बहन ,बी के कमलेश  ,बी के रूपा, बी के आशा बहन ,बी के करण  ने दीप प्रज्वलन कर शुभारंभ किया ।बी के सुनिता,बी के इन्द्रा बहन,ओर बी के ज्योती ने सभी  अतिथियों का बैज  लगाकर स्वागत किया 18 फुट के, साइंस प्रदर्शनी स्वर्ग के देव दर्शन हेल्थ वेल्थ हैप्पीनेस स्टाल, सृष्टि चक्र दर्शन व्यसन मुक्ती प्रदर्शनी और समाज सेवा प्रदर्शनी,अमरनाथ की गुफा,32फुट का शिवलिंग  का मुख्य आकर्षण रहे इस हेल्थ वेल्थ एंड हैप्पीनेस आध्यात्मिक मेले में हजारों लोगों ने देखकर गदगद हो गए मेड़ता की मेड़ता के इतिहास में यह पहला अवसर है जब इतना विशाल स्तर पर हेल्थवेल हैप्पीनेस मेला लगाया गया । देश भर से ब्रह्माकुमारी  परिवार के अनुयाई इस मेले में पहुंचे हैं रोजाना सुबह 10:00 से रात्रि 9:00 तक मेले में निशुल्क प्रवेश कर राजयोग द्वारा स्वस्थ सुखी होने की कला सीखी जा सकती है । कार्यक्रम का संचालन बी के रुपा बहन ने किया ।बी के आशा बहन ने सभी का आभार व्यक्त किया । इस अवसर पर सिरसा की बिंदु मैंने कहा कि लोग तो मरने के बाद स्वर्ग के दर्शन करते हैं लेकिन यहां तो स्वर्ग के दर्शन कर सकते हैं और स्वर्ग में जो जो होता है वह अपनी आंखों से देख सकते हैं मेड़ता सेवा केंद्र की संचालिका अनुराधा बहन ने कहा कि आपको राजयोग सीखना है तो इस मेले में भी आकर सीख सकते हैं यहां पर राज योग सिखाने की भी व्यवस्था की गई है ,कार्यक्रम के पूर्व में नन्ही बालिका ने सुंदर नृत्य कर कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया तथा विवेक भाई ने सुंदर गीत गाकर सभी की तालियां बटोरी इस अवसर पर अजमेर की अंकिता बहन , चित्तौड़ की आशा बहन, और नागौर की अनिता बहन भी मौजूद रही । मेले के संयोजक बी के करण भाई ने कहा की हमारी टीम ने रात-दिन मेहनत कर यह मेला तैयार किया है इसमें सबसे मुख्य आकर्षण का जो केंद्र है वह अमरनाथ की गुफा ,व 32 फुट का शिवलिंग और कुंभकरण का प्रदर्शन रहेगा । कार्यक्रम के अंत में ब्रह्मा कुमारी प्रीति बहन ने सभी को राजयोग का अभ्यास कराया ।